©2018 by Soch Theatre Group. Proudly created with Wix.com

इतवार

August 11, 2018

 

 

 

 

 

एक *आलस* भरी चाय,

एक देखी हुई *फिल्म* !

एक सुस्त *झपकी* ,

एक *अधपढी* किताब में गुजर गया!!

 

एक हफ्ते किश्त भर कर 

ख़रीदा था *इतवार*...

अभी तो आया था...

ना जाने किधर गया...??

 

--विजय सहगल

Please reload

Our Recent Posts

अपना -अपना निष्कर्ष

August 13, 2018

इतवार

August 11, 2018

जंगल में दफ्तर

August 11, 2018

1/1
Please reload

Tags