अच्छे दिन आएंगे l

August 6, 2018

व्यापारी कहें व्यापार बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

 

मजनू बोले प्यार बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

नौकरीशुदा बोले भत्तार बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

शादीशुदा बोले परिवार बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

सरकार बोले घोटाला बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

सिपहसालार बोले आतंक बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

डॉक्टर बोले मरज़ बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

अध्यापक बोलें बस्ते का भार बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

कलाकार बोले फ़न बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

बनिया बोले धन बडे़गा l

अच्छे दिन आएंगे l

मैं पूछता हूँ l

क्या सच में अच्छे दिन आएंगे l

जब तक बेटियाँ असुरक्षित l

क्या सच में अच्छे दिन आएंगे l

जब तक प्रजा रहेगी लूटती l

क्या सच में अच्छे दिन आएंगे l

जब तक हम रिश्तों को ठुकराते रहेंगे l

क्या सच में अच्छे दिन आएंगे l

जब तक हम खुद को नकारते रहेंगे l

क्या सच में अच्छे दिन आएंगे l

जरूरत है l

खुद को पहचाने l 

सुधारें इस समाज को l

उठा लें मशाल l

और उजाला करें इस समाज में l

तब हाँ जरूर, जी हाँ जरूर, 

सच में अच्छे दिन आएंगे l

 

#Rajiv #RandomThoughts #राजीव

Please reload

Our Recent Posts

अपना -अपना निष्कर्ष

August 13, 2018

इतवार

August 11, 2018

जंगल में दफ्तर

August 11, 2018

1/1
Please reload

Tags

©2018 by Soch Theatre Group. Proudly created with Wix.com